सरहद पर वीर जवानों के रहते देश कहाँ घबराता है..स्वतंत्रता दिवस पर विशेष-बलजीत कौर सब्र.

baljit kaur

सातवां पहर/रायपुर
9893547444

अहसास आजाद वतन का
दिल में खुशी दे जाता है
गाथाएं वीर जवानों की
हर पल इतिहास सुनाता है
हो कोई मौसम
मजबूत घर की छत होने से
जैसे बंदा निर्भिक सो जाता है
सरहद पर वीर जवानों
के रहते
देश कहां घबराता है..?
शान से लहराता हिमालय पे तिरंगा मन में अभिमान
जगाता है
दिवस स्वतंत्रता का बच्चा बच्चा त्योहार सा मनाता है गूंजता नारा
देश प्रेम का
हर इक में
जोश भर जाता है।

भारत स्वतंत्र लोकतंत्र देश पराधीनता की बेड़ियों से मुक्त राष्ट्र! स्वतंत्रता दिवस भारत में सबसे बड़ा राजनीतिक त्योहार है 15अगस्त वर्ष के आगमन आहट से जश्न- ए-आजादी का दौर शुरू हो जाता है सबसे ज्यादा उत्साह स्कूली बच्चों मे दिखाई देता है स्वतंत्रता की भावना से मन आनंद की अनुभूति करता है! प्रधानमंत्री जी द्वारा लाल किले पर झंडा फहराया जाना देश को संबोधित करना! यह एक ऐसा त्योहार है जो भारत की करोड़ों की जनसंख्या वाली जनता एकजुट होकर मनाती है स्वतंत्रता सेनानियों को याद करती है उन्हें श्रद्धा पूर्वक नमन करती है राष्ट्रगान जब गूंजता है मन देश प्रेम की भावना से भर उठता है कर्तव्य बोध के यही पल हमे स्वतंत्रत भारत के नागरिक होने का अर्थ समझा देश प्रगति में साधक बनने को प्रेरित करते हैं… वर्षों के संघर्ष के बाद भारत आज जागृत और स्वतंत्र है भविष्य की नई आशाएं हैं किंतु सबसे महत्वपूर्ण ….
मानवता हमारा प्रथम धर्म है जाति और धर्म के नाम पर उठने वाली गर्म हवाओं को बढ़ावा ना देकर उन्हें प्रेम की ठंडी फुहारों से शांत करें। कोरोना काल के इस कठिन दौर से गुजर रहे हम एक दूसरे का सहयोग करें! हम जहां जिस भी स्थान पर हैं समय और परिस्थिति के अनुसार देश के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें हमारी एकजुटता की मजबूती ऐसी होनी चाहिए कि कोई भी चीन जैसा घुसपैठिया
हमारी ओर आंख उठाकर भी ना देख सके।
जय हिंद
स्वरचित मौलिक बलजीत कौर उबेजा “सब्र”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here