Home Blog Page 50

नजूल भूमि आबंटन का हुआ बंदरबाट, प्रशासन और भूमाफिया की मिलीभगत, विपक्ष की मौन स्वीकृति.. कांग्रेस ने खोला मोर्चा..

सातवां पहर/मुंगेली – एक ओर जहाँ नगरपालिका की सीमा के अंदर निर्माण कार्यों हेतु शासकीय जमीनों की कमी होने से कई प्रकार के विकास कार्य रुके हुए हैं, वहीं नियमों को ताक पर रखकर सरकार को चुना लगा भूमाफियाओं के द्वारा शासकीय जमीन को अपने नाम मे किये जाने का खेल पुरजोरो पर है।
राज्य शासन के नियमानुसार नगरीय निकाय क्षेत्र में स्थित कच्चे मकान को पक्का एवं पक्के मकान को बाजार मूल्य से 102% अधिक पर फ्री होल्ड करने का नियम सरकार ने बनाया है। इसी तरह नगरीय क्षेत्र की भूमि पर जब तक किसी व्यक्ति का कब्जा सिद्ध नहीं होता हो तब तक उक्त भूमि का मालिकाना हक नगरीय निकाय के पास होता है न कि किसी व्यक्ति विशेष के पास, ठीक इसके विपरित मुंगेली नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत रिक्त भूमि, वर्ग विशेष को आबंटित की जा रही है जो कि शासन के नियमों का सरासर उल्लंघन है।


परिषद में प्रस्ताव पारित होना है जरूरी..
इस मुद्दे को लेकर जहाँ एक ओर कांग्रेस के पार्षदों सहित नेताओ ने जोरदार हल्ला बोल दिया है वहीं दूसरी ओर भाजपा के तरफ से जनहित के मुद्दे में चुप्पी साधे रहना संदेह के घेरे में लाता है। नगर में इस मुद्दे की बड़ी जोरो से चर्चा है, आमजनों के बीच अचानक हुए ऐसे जमीन आबंटन को लेकर सीधा नाराजगी दिख रही है तो वहीं विपक्षी पार्टी भाजपा के तरफ से किसी प्रकार का विरोध ना करना सवालिया निशान उठाता है। आमजन के अनुसार आखिर ऐसी क्या मजबूरी रही होगी कि प्रशासन को इतनी हड़बड़ी में आबंटन की प्रक्रिया करनी पड़ी वहीं विपक्षी पार्टी की ऐसी क्या मजबूरी है जिस कारण उनके द्वारा मौन स्वीकृति दी जा रही है। दूसरी तरफ कांग्रेस के तरफ से इस मुद्दे को लेकर शिकायत की गई है। शिकायतकर्ता के अनुसार सीएमओ ने इस बात को ध्यान में न रखते हुए की नगरीय क्षेत्र के शासन की किसी भी प्रकार की कोई भी भूमि जिस पर नगर पालिका द्वारा प्रस्तावित कार्यों के क्रियान्वयन के लिए सुरक्षित रखी जाती है तथा उक्त भूमि को किसी के द्वारा मांगी जाती है तो परिषद में इसका प्रस्ताव लाकर सहमति ली जाती है जबकि सीएमओ द्वारा ऐसा नहीं किया गया है ।
व्यक्ति विशेष को लाभ देने की मंशा का आरोप
भूमि आवंटित की गई है जिनमें से दो व्यक्ति विशेष को अधिक से अधिक प्लाट दिया जा रहा है शेष भूमि पर भी व्यक्ति विशेष ने नाम बदलकर उसे खरीदने का प्रयास किया है जिससे शासन को करोड़ों की क्षति हो रही है।
कार्यवाही न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी
इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के पार्षदों और नेताओं द्वारा खुली लड़ाई लड़ने की बात कही जा रही। कांग्रेस नेताओं ने इस मुद्दे पर तीखी नारजगी जताते हुए कहा कि इस तरह सरकारी जमीन को आबंटन करने पर कई प्रकार के निर्माण हो सकते थे, परंतु जनहित के मुद्दों को बगल करते हुए ये आबंटन किया गया है। जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष विनय चोपड़ा ने ज्ञापन सौंपते हुए मांग की है कि चूंकि मुंगेली जिला है यहां विकास की असीम संभावनाएं जिला स्तर के अधिकारियों के लिए भूमि की आवश्यकता शासन को पड़ सकती है सार्वजनिक हित में बहुत से आंगनबाड़ी मोहल्ला क्लीनिक लघु वाटिका पार्किंग आदि अन्य व्यवस्था की जानी है नगरपालिका की जा रही है सभी लोग हैं मुनाफा कमा सकते हैं नजूल की उक्त भूमि का आवंटन पूरी तरह से नियमों का पालन नहीं किया गया है कुछ अधिकारियों और भूमाफिया के द्वारा निजी हित में आवंटित की गई है उसे नगर हित में रद्द किया जावे और राशि को जप्त किया जावे साथ ही सभी के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही की जावे। इस तरह किसी बड़े घोटाले का संदेह जाहिर करते हुए इसकी जांच कराने की मांग की गई है। मामले में किसी तरह की कार्यवाही ना होने पर उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी गई है।
क्या कहा सीएमओ ने
इस विषय में मुख्य नगर पालिका राजेन्द्र पात्रे से जब चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि नगर पालिका को कलेक्टर आफिस से पत्र जारी हुआ था जिसमे एनओसी देने कहा गया था ।
होंगे और भी खुलासे..
जनहित के इस मुद्दे पर हर कड़ी, हर पहलु के साथ इसमें लिप्त लोगों के नाम के साथ जल्द ही बड़ी खबर लगातार आपके सामने सातवां पहर डाॅट काॅम के माध्यम से लाया जाएगा।

सैनिकों के प्रति आखिर क्या है हमारा कर्तव्य वार्षिक उत्सव के माध्यम से रविंद्र भारती उ.मा.वि.मदनपुर का सार्थक प्रयास

sainik samman samaroh

सातवां पहर-मुंगेली// समाज को आपस में जोड़ने का माध्यम बना, वार्षिक उत्सव का कार्यक्रम..
रविन्द्र भारती उच्च माध्यमिक विद्यालय मदनपुर में वार्षिकोत्सव को एक नयी परम्परा के साथ समाज प्रमुखों को जोड़कर भव्य सैनिक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, कार्यक्रम माँ सरस्वती व भारत माता की पूजा से प्रारम्भ हुआ तत्पश्चात स्वागत कर प्राचार्य मनोहर यादव के द्वारा स्वागत भाषण व विद्यालय का ज्ञापन प्रस्तुत किया गया जिसमे उन्होने कहा कि आज हमारे विद्यालय के लिए बहुत ही गौरव का विषय है कि आज इस मंच पर एक ओर देश की सरहद पर हम सबकी रक्षा के लिये जान हथेली पर रखकर देश की सेवा करने वाले वीर जांबाज सैनिक हैं तो दूसरी ओर समाज के प्रमुख जो समाज मे सद्भावना व उत्थान का पाठ पढ़ाते हैं वे विराजमान है जिस प्रकार सैनिक अपना कार्य को जाति, धर्म, मजहब, वर्ग से ऊपर उठकर देश को सर्वोपरी मानकर देश की सेवा करते हैं उसी प्रकार सैनिक समाज से अपेक्षा करते है कि समाज भी जाति,धर्म, मजहब, वर्ग आदि से ऊपर उठकर सभी समाज को जोडने का काम करे मानव से मानव को जोड़ने का काम करे तब समाज और देश का विकास होगा ।


2003 से हुई स्कूल की शुरूवात
विद्यालय ज्ञापन में प्राचार्य ने बताया कि हम सबके पथ प्रदर्शक, शिक्षा के क्षेत्र में कई दशक काम करने वाले शिक्षा दूत परम् सम्मानीय श्री सात्यिकी सिंह परिहार ने इस विद्यालय को मुर्त रूप दिया है इन्ही के निरंतर प्रयास से विद्यालय 2003 से 33 छात्राओं के साथ किराये की भवन से प्रारंभ हुआ था वो आज दोनो माध्यम में अंग्रेजी में नर्सरी से 8 वी तक 317 बच्चे है, और हिंदी माध्यम में कक्षा 6 वी से 12 वी तक कला विज्ञान, कृषि, गणित, संकाय में 743 बच्चे है, इस वर्ष 2018-19 बोर्ड परीक्षा का परिणाम कक्षा 10 वी में 126 में 119 उत्तीर्ण हुए जिसमे 67 बच्चे प्रथम श्रेणी रहे व कक्षा 12 में 196 में 193 बच्चे पास हुए जिसमे 129 बच्चे प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए।
सैनिकों के सम्मान में छोटा सा प्रयास-आकाश परिहार
प्रबन्धक आकाश सिंह परिहार ने कहा कि सैनिक हम सबकी सुरक्षा करते है लेकिन जो उनका सम्मान होना चाहिए वह नही होता, वह तपती धूप व कड़ाके ठंठ में सभी प्रकार के त्यौहार में घर-परिवार से दूर रहते हुए हमारी रक्षा करते है इसलिए उनका सम्मान समारोह कार्यकम करना रविन्द्र भारती स्कूल का यह छोटा सा प्रयास रहा है आगे इस परंपरा को हम सब निभाये ये आप सबसे अपेक्षा करता हूँ जिस प्रकार सैनिक सरहद में देश का सुरक्षा करते है उसी प्रकार समाज के प्रमुख समाज के आंतरिक व्यवस्था को सुरक्षित रखते है ।
सैनिकों के बाद अब वैज्ञानिकों का सम्मान हो-नमक लाल भास्कर
कार्यक्रम में उपस्थित नमक लाल भाष्कर ने कहा कि सबसे पहले मैं स्कूल के प्रबंधक, प्राचार्य, प्रधान पाठिका का सम्मान करना चाहता हूँ जिन्होंने इस परंपरा को शुरू करने के साथ ही सम्मान भी किया, उसके बाद उन्होने कहा कि जिले में रविन्द्र भारती एक मात्र ऐसा स्कूल है जहाँ पढ़ाई, खेल, सांस्कृतिक क्षेत्र में एक अलग स्थान बनाये हुए है साथ ही आने वाले समय मे वैज्ञानिक का सम्मान होना चाहिए।

सेना में जो जाते हैं वो जान की बाजी लगाते हैं-महेन्द्र प्रताप राणा
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महेंद्र प्रताप राणा ने बच्चों को समझाया कि 10 वी एवं 12 वी के आधार पर आप सेना में जा सकते है और प्रत्येक राज्य में एक सैनिक स्कूल होता वहां आप प्रवेश परीक्षा दिलाकर भर्ती हो सकते हैं, सेना में जो जाते है वह जान की बाजी लगाते है और उधर से डिब्बा में पैक होकर आते है उसके बाद जो हमको नाम व सम्मान मिलता है वह मरणोपरांत तक इतिहास अमर रहता है हमे लोग उदाहरण देते है कि वह शेर का बच्चा है, वीरांगना माँ की औलाद है, साथ ही हमारे नाम से स्कूल, स्टेडियम, चिकित्सालय बनाया जाता जो अजर अमर रहता है ।

दिलीप ताम्रकार प्राचार्य सोनकर स्कूल मुंगेली ने कहा कि यह विद्यालय ग्रामीण क्षेत्र में होते हुए सभी क्षेत्रों में जिले में एक अद्वितीय स्थान रखते है निश्चित रुप से प्रबन्धक आकाश परिहार, व प्राचार्य मनोहर यादव के विचार व कुशल मार्गदर्शन से ये सम्भव है, कार्यक्रम के दौरान खेल, स्काउट्स, ताइक्वांडो, बोर्ड कक्षा में टॉपर विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया गया। उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में – भारतमाता के वीर सपूत श्री महेंद्र प्रताप राणा( भूत पूर्व सैनिक सिपाही संगठन प्रांतीय अध्यक्ष), कार्यक्रम की अध्यक्षता भारत माता के वीर सपूत श्री संतोष साहू जी( भूत पूर्व सैनिक सिपाही संगठन प्रांतीय उपाध्यक्ष) ने की। अति विशिष्ट अतिथि- परम् समानिय श्री नमक लाल भाष्कर सतनामी समाज सेवी, विश्वनाथ सिंह ठाकुर समाज जिला अध्यक्ष, रमेश कुलमित्र कुर्मी समाज जिला अध्यक्ष, दिनेश सोनी समाज संरक्षक, धनीराम यादव समाज महासमिति अध्यक्ष, अवधेश शुक्ला ब्राम्हण समाज जिला अध्यक्ष, किरण गुप्ता बनिया समाज जिला अध्यक्ष, बलदाऊ साहू जिला अध्यक्ष, आनंद देवांगन समाज जिला अध्यक्ष, दुर्गा डांडे मेहर समाज जिला अध्यक्ष, दिलीप निर्मलकर धोबी समाज जिला अध्यक्ष, संतोष कैवर्त केवट समाज जिला अध्यक्ष, सोन सिंह राजपूत सैनिक, कमल नारायण साहू सैनिक, संदीप साहू सैनिक, दिलीप सिंह राजपूत सैनिक, जितेंद्र सिंह राजपूत सैनिक कवर्धा, जितेंद्र सिंह राजपूत सैनिक बिलासपुर, हरीश सूबेदार सैनिक, सुखेन्द्र तिवारी सैनिक, राधेश्याम दास पुजारी, डॉ. सुरेश केशरवानी,मानिक लाल सोनवानी, दिलीप ताम्रकार प्राचार्य, संजय सिंह परिहार, यसवंत सिंह ठाकुर, प्रमोद सिंह श्रीनेत, देवेन्द सिंह परिहार, शिवकुमार उपाध्याय, कार्यक्रम में निर्णायक मंडल में उपस्थित जजमेन्ट करने वाले मोनिका सिंह राजपूत, सकुन्तला राजपूत, रोहणी ठाकुर, अपेक्षा पटेल विद्यालय के कोषाध्यक्ष प्रीति सिंह परिहार, प्रबन्धक आकाश सिंह परिहार, प्राचार्य मनोहर यादव, जितेंद्र पाठे उपप्राचार्य, एच.एम. सु श्री अमृता पात्रे, संचालन कर्ता जयजय सिंह उपस्थित रहे।

नगर में पहली बार पतंग महोत्सव का आयोजन, 7 से 66 वर्ष के प्रतिभागी हुए शामिल..

patang mahotsav mungeli

एक जमाना बीत गया जब आसमान में पंछियों की भांति अनगिनत पतंगे उड़ते थे, मानो वो कोई और ही युग था, इस आधुनिकता के दौर ने मानो पुरानी परंपराओं का गला घोंट दिया हो, आज बच्चे मोबाईल, कम्यूटर, वीडियो गेम के शिकंजे में जकड़ते जा रहे हैं, आधुनिक युग के इस परिवेश में स्टार्स आफ टूमारो की टीम ने वो फिर कर दिखाया जिसके नाम से वे जाने जाते हैं…

पतंग महोत्सव में शामिल प्रतिभागियों के साथ स्टार्स आफ टूमारो की टीम


स्टार्स आफ टुमारो वेलफेयर सोसायटी मुंगेली द्वारा नगर में मकर संक्रांति के अवसर पर पहली बार पतंग उत्सव का आयोजन किया गया । पहले आयोजन को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला । लगभग 150 पतंगबाजों ने अपने पतंग का करतब दिखाया । इस आयोजन में सबसे वरिष्ठ एवं सबसे कनिष्ठ (कम उम्र) के पतंगबाज को भी सम्मानित किया गया । साथ ही सबसे सुंदर पतंग लेकर आये पतंगबाज को भी सम्मानित किया गया ।
कार्यक्रम का शुभारंभ नगर पालिका परिषद् मुंगेली के सीएमओ राजेंद्र पात्रे, कृषक रत्न से सम्मानित श्रीकांत गोवर्धन, मुंगेली थाना प्रभारी आशीष अरोरा, राकेश पात्रे, मनोज अग्रवाल, शिवप्रताप सिंह, हेमेंद्र गोस्वामी, संजीव गुप्ता, प्रवीण वैष्णव, इंद्राज सिंह, प्रायोजक श्रेणिक पारख के साथ प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सम्मानीय जनों के आतिथ्य में हुआ । प्रथम आयोजन के आकर्षण ने लोगों को अपनी ओर खींच लाया, पतंगबाजी को देखने सैकड़ों लोग पहले ही पहुंच चुके थे, दो घंटे तक विभिन्न तरीके से पतंगबाजो का पतंग हवा में लहराता रहा, आसपास के पतंग को काटकर आगे बढ़ता रहा, लोग आसमान की ओर देखकर ताली बजाते रहे। सायं 5ः00 बजे कार्यक्रम का समापन हुआ ।
इस अवसर पर नगर पालिका मुंगेली के सीएमओ राजेंद्र पात्रे ने कहा कि पहला प्रयास सफल प्रयास है । पहली बार में ही इतने प्रतिभागियों का सम्मिलित होना सफलता बयां कर रही है । श्रीकांत गोवर्धन ने कहा स्टार्स आफ टुमारो वेलफेयर सोसायटी की टीम हमेशा कुछ नया करने का सोचती रहती है, चाहे वह व्यापार मेला हो, वृक्षारोपण हो, जलसंरक्षण के लिए आगर बचाओ हो या अब पतंग उत्सव हो ऐसा कहते हुए उन्होने युवा टीम को बधाई दी, इस अवसर पर राकेश पात्रे ने भी स्टार्स ऑफ टुमारो को शुभकामनाएं दी । कार्यक्रम को शिवप्रताप सिंह, हेमेंद्र गोस्वामी, योगेश शर्मा, अशोक गुप्ता ने भी संबोधित किया ।

पुरस्कार लेती 7 वर्ष की श्रीनू दीक्षित


वरिष्ठ 66 वर्ष तो कनिष्ठ 7 वर्ष के पतंगबाज हुए शामिल
पहली बार हो रहे पतंग उत्सव में 66 वर्षीय किशन सिंह क्षत्रीय को वरिष्ठ पतंगबाज का, 7 साल की श्रीनु दीक्षित को कनिष्ट पतंगबाज का साथ ही सबसे सुंदर पतंग के लिए प्रशांत शर्मा को सम्मानित किया गया। वहीं प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार ईशु देवांगन ने, द्वितीय दुर्गेश देवांगन ने एवं धनराज देवांगन ने तृतीय स्थान प्राप्त किया । कार्यक्रम के उद्देश्य को रामपाल सिंह ने व्यक्त किया । स्वागत भाषण सतपाल मक्कड़ ने एवं आभार प्रदर्शन देवेन्द्र परिहार ने किया । कार्यक्रम का संचालन सहसंयोजक रामशरण यादव ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में संयोजक रामपाल सिंह, सहसंयोजक रामशरण यादव, अध्यक्ष महावीर सिंह, सचिव विनोद यादव, कोषाध्यक्ष धनराज परिहार, दिनेश गोयल, सतपाल मक्कड़,आशीष कुमार सोनी, श्रेणिक पारख, गोखलेश सिंह, दीपक जैन, गौरव जैन, नीलेश केशरवानी, देवेंद्र परिहार, सूरज मंगलानी, रणवीर सिंह, दीपक जैन, गिरीश सुथार,टीपू खान, रघुराज सिंह, देवशंकर श्रीवास्तव, श्रेयांश बैद, मुकेश पांडेय, चित्रकान्त सिंह, राहुल मल्लाह, नागेश साहू, सुनील वाधवानी का सहयोग रहा।

पूर्व स्वास्थ मंत्री की रिश्तेदार के अंधे कत्ल मामले में पुलिस को मिली सफलता, मनोहरपुर केस अभी भी पेंडिंग..

सातवां पहर/मुंगेली – कहते है कि कानून के हाथ बहुत लंबे होते है और अपराधी कितना भी शातिर हो कानून से बच नही सकता, एक ऐसे ही अंधे कत्ल के मामले में मुंगेली पुलिस ने भी अपराधियों को धर दबोचा।

लगभग 5 साल पहले ग्राम छटन, थाना फास्टरपुर में 15 नवंबर 2015 की दरम्यानी रात्रि अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य राज्य मंत्री भानुप्रसाद गुप्ता की रिश्तेदार श्रीमती उमेंद कुंवर केशरवानी की जघन्य हत्या एवं लूट की घटना घटित हुई थी, जिस पर लंबे अंतराल के बाद पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम गोरखपुर, थाना लालपुर निवासी शातिर नकबजन एवं पूर्व सजायाब गंगाराम यादव, सखाराम यादव, तुकाराम यादव एवं रिद्धीगिरी गोस्वामी, इन चारों ने मिलकर ग्राम छटन में हुई हत्या व लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है, जिसके बाद मुखबिर से मिली सूचना की तस्दीक में पुलिस जुट गई, जिसमें पता चला कि 15 नवम्बर की रात्रि गोरखपुर के गंगाराम यादव, सखाराम यादव, तुकाराम यादव एवं रिद्धीगिरी गोस्वामी चोरी की नियत से श्रीमती उमेंद कुंवर केशरवानी के घर में घुसे थे, घटना को अंजाम देते हुए संभवतः कोई आहट हुई होगी जिससे श्रीमती केशरवानी जाग गई, चूंकि उन चारों को वो पहचानती थी, उसमें से एक आरोपी उनके पुराने मुख्त्यार भाईराम यादव का बेटा निकला, पकड़े जाने के डर से उन चारों ने उनके हांथ और मुंह को पकड़कर पास रखे लोहे के परखी तथा सील पत्थर से ताबड़तोड़ हमला कर उनकी हत्या कर उनके गले से सोने की कंठी, चांदी की बिछिया सहित नकदी रकम को लूट कर वहां से भाग खड़े हुए।
ऐसे हुई गिरफ्तारी
ग्राम मनोहरपुर थाना लालपुर में 30-31 दिसम्बर की दरमियानी रात लूट एवं हत्या की घटना के सिलसिले में अज्ञात आरोपियों की पतासाजी हेतु मनोहरपुर एवं आसपास पुलिस ने अपने मुखबिर सक्रिय कर रखे थे साथ ही जिन पर भी पुलिस को शक हुआ उनसे कड़ाई से पूछताछ कर रही थी, नतीजन वर्ष 2015 में हुई घटना के आरोपी सलाखों के पीछे पहुंचे हैं।
मनोहरपुर का मामला अभी भी है पेंडिंग
ग्राम मनोहरपुर में भी ऐसे ही लूट एवं हत्या जैसी जघन्य अपराध को अंजाम देकर अपराधी अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर है, अब ऐसे में देखने वाली बात यही है कि पुलिस उन अपराधियों तक कब पहुंचती है।
टीम को मिलेगा ईनाम
2015 का मामला हाई प्रोफाईल होने से पुलिस अधीक्षक द्वारा 5000 रूपये ईनाम की घोषणा की गई थी, आरोपियों को गिरफ्तार करने में निरीक्षक प्रभुप्रकाश लकड़ा, सउनि सुशील कुमार बंछोर, आरक्षक यशवंत डाहिरे, लोकेश राजपूत, राजेन्द्र यादव, भेषज पांडेकर एवं गिरीराज परिहार शामिल रहे।

खबरें और भी हैं